16 और 17 दिसंबर 2021 को 2 दिवसीय हड़ताल के दौरान पूरे देश में बैंक कर्मचारियों द्वारा व्यापक विरोध प्रदर्शन

16 और 17 दिसंबर 2021 को 2 दिवसीय हड़ताल के दौरान पूरे देश में बैंक कर्मचारियों द्वारा व्यापक विरोध प्रदर्शन

 

जंतर मंतर, नई दिल्ली


दिल्ली

बेंगलुरु

चेन्नई

मुंबई

भोपाल

त्रिवेंद्रम

त्रिशूर

विजयवाड़ा

जयपुर

शिमला

कोचि

कोझीकोड

इम्फाल

झारखंड

Subscribe
Notify of
guest
3 Comments
Oldest
Newest Most Voted
Inline Feedbacks
View all comments
वीर
वीर
11 months ago

यूनाइटेड फोरम ऑफ बैंक यूनियन के आव्हान पर देश भर के बैंक कर्मचारियों ने बहुत व्यापक पैमाने पर दो दिन लगातार हड़ताल किया। इस हड़ताल की तस्वीरें हम जैसे आम मजदूरों के पास पहुंचाने के लिए मैं एआईएफएपी AIFAP को धन्यवाद देता हूं। चूंकि इतना बड़ा हड़ताल होने के बावजूद भी पूंजीपतियों के मीडिया ने इसे दिखाया नहीं। इससे हमें AIFAP जैसी फोरम की कितनी आवश्यकता है यह स्पष्ट होता है।

वाकई मैं इस संघर्ष ने निजीकरण के खिलाफ हमारे संघर्ष मैं एक नया जोश भर दिया है।

दीपेश
दीपेश
11 months ago

वाकई मैं यह बहूत जोरदार हड़ताल थी। देश के कोने कोने से बैंक कर्मचारियों ने हड़ताल की है। मैं इससे बहुत प्रभावी हूं क्योंकि बहोत बड़े पैमाने पर महिलाओं ने इस संघर्ष मैं हिस्सा लिया है और कई जगह संघर्ष का नेतृत्व भी किया है।

निजीकरण विरोध का संघर्ष मैं महिलाओं का होना बहुत जरुरी है। बाकी क्षेत्र के कर्मचारियों को इससे सिख लेकर ज्यादा से ज्यादा नारीशक्ति को हमारे निजीकरण विरोधी संघर्ष में जोड़ना चाहिए। इस संघर्ष की समय समय की खबरे देने के लिए AIFAP का धन्यवाद।

Rajaram Kuware
Rajaram Kuware
11 months ago

कॉम. ऐसे सेक्टर वाईज लढनेसे फायदा नही. सब सेक्टर के कर्मचारी / लोग एक हो के अक्शन करना चाहिए. जैसे फार्मर आंदोलन. नही तो फायदा नही.
क्योकी दुश्मन ताकदवान हैं और उसके हाथ में सत्ता हैं. हमारी ताकद बहुत जादा हैं. लेकीन उसको हमे पहाचनना पडेगा. सारे लेफ्ट एक होंगे तो भी बहुत असर पडेगा. लेकीन बहुत सालसे वाे भी नहीं होता. ये सब लोग अपने आप को हुशार समझते हैं. इसीलिये समझ जाव और सुधर जाव. नहीं तो हातसे निकल जाताही रहेगा.