भारतीय रेलवे की संपत्ति के मुद्रीकरण की योजना (निजीकरण की दिशा में एक कदम)

वित्त मंत्री ने 23 अगस्त 2021 को राष्ट्रीय मुद्रीकरण पाइपलाइन (एनएमपी) की घोषणा की | संपत्ति के मुद्रीकरण की योजना से 4 वर्षों में कुल 6 लाख करोड़ रुपये इकठ्ठा करने की योजना है | नीति आयोग द्वारा जारी दस्तावेजों में मुद्रीकरण के लिए संपत्तियों का विवरण दिया गया है | भारतीय रेलवे की बड़ी संख्या में संपत्ति का मुद्रीकरण किया जाएगा |

मुद्रीकरण, निगमीकरण की तरह, निजीकरण का दूसरा रूप है और सभी मज़दूरों को इसका विरोध करने की आवश्यकता है |

संलग्न प्रस्तुति एनएमपी का अवलोकन और एआईएफएपी सदस्यों की जानकारी के लिए भारतीय रेलवे की मुद्रीकरण  के लिए संपत्तियों का विवरण देती है।

Hindi-Plan_of_Monetisation_of_Assets_of_Indian_Railways
Subscribe
Notify of
guest
1 Comment
Oldest
Newest Most Voted
Inline Feedbacks
View all comments
laxmi
laxmi
1 year ago

वे निजी कंपनियों को लाभ पहुँचाने वाली और जनता को लूटने वाली सार्वजनिक संपत्तियों के निजीकरण के मुद्रीकरण और निगमीकरण जैसे रचनात्मक तरीके खोजते रहते हैं। चूंकि यह निजीकरण का एक रूप है, इससे हम आम लोगों का कोई भला नहीं होगा और इसका कड़ा विरोध किया जाना चाहिए।