महाराष्ट्र स्टेट इलेक्ट्रिसिटी वर्कर्स फेडरेशन अडानी को ठाणे, नवी मुंबई, उरण और पनवेल में बिजली बांटने का लाइसेंस देने का विरोध करेगा

कॉम. कृष्णा भोयर, महासचिव, महाराष्ट्र स्टेट इलेक्ट्रिसिटी वर्कर्स फेडरेशन और राष्ट्रीय सचिव, अखिल भारतीय विद्युत कर्मचारी संघ, द्वारा जारी प्रेस नोट (अंग्रेजी प्रेस नोट का Read more

सरकार निजीकरण और निगमीकरण के बीज बोना बंद करे नहीं तो गंभीर परिणाम भुगतने पड़ेंगे – ऑल इंडिया रेलवे मेंस फेडरेशन के महासचिव श्री शिव गोपाल मिश्रा की सरकार को चेतावनी

कामगार एकता कमेटी (केईसी) संवाददाता की रिपोर्ट नौर्दर्न रेलवे मेंस यूनियन की पठानकोट में 19 सितंबर को आयोजित शहीदी कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए ऑल Read more

रक्षा असैनिक कर्मचारी 31 अक्टूबर से 4 नवंबर 2022 तक निगमीकरण के बाद कर्मचारियों पर किए जा रहे हमलों और उत्पीड़न के खिलाफ एक सप्ताह चलने वाला विरोध कार्यक्रम करेंगे

कामगार एकता कमिटी (KEC) संवाददाता की रिपोर्ट अखिल भारतीय रक्षा कर्मचारी महासंघ (एआईडीईएफ), भारतीय प्रतिरक्षा मजदूर संघ (बीपीएमएस) और रक्षा मान्यता प्राप्त संघों के परिसंघ Read more

डाक कर्मचारी विभिन्नडा क सेवाओं के निगमीकरण का विरोध करते हैं

नेशनल फेडरेशन ऑफ पोस्टल एम्प्लोयिज (NFPE) के महासचिव कॉमरेड जनार्दन मजूमदार बताते हैं कि विभिन्न डाक सेवाओं के निगमीकरण का विरोध क्यों किया जाना चाहिए Read more

जीसीऍफ़ जबलपुर के चुनाव में निगमीकरण की खिलाफत करने वालों की विजय

श्री शरद बोरकर, संयुक्त सचिव, हिंद मजदूर सभा, मध्य प्रदेश से प्राप्त सूचना के आधार पर तैयार रिपोर्ट गन कैरियेज फेक्ट्री (जीसीऍफ़), जबलपुर, मध्य प्रदेश Read more

AILRSA/ईस्ट कोस्ट रेलवे ने 21.03.2022 को भुवनेश्वर में ट्रॉली बैग के खिलाफ तथा रेलवे के निजीकरण और निगमीकरण को रोकने सहित अपनी 17 सूत्रीय मांगों के लिए ज़ोनल स्तर पर प्रदर्शन का आयोजन किया।

  कॉम ए. भोलानाथ, डिवीज़नल सचिव, एआईएलआरएसए/WAT की रिपोर्ट AILRSA/E.Co.रेलवे (आल इंडिया लोको रनिंग स्टाफ एसोसिएशन/ईस्ट कोस्ट रेलवे) ने CWC (AILRSA की केंद्रीय कार्यकारिणी कमिटी) Read more

रेल व्हील फैक्ट्री मजदूर यूनियन – एआईआरएफ ने “क्यों मुद्रीकरण, निगमीकरण और निजीकरण आपके लिए हानिकारक हैं!” पर पुस्तिका का प्रसार किया।

रेल व्हील फैक्ट्री मजदूर यूनियन – एआईआरएफ ने “क्यों मुद्रीकरण, निगमीकरण और निजीकरण आपके लिए हानिकारक हैं!” पर पुस्तिका का प्रसार किया।

पुस्तिका – क्यों मुद्रीकरण, निगमीकरण और निजीकरण आपके लिए हानिकारक हैं! – का एआईएफ़एपी और तमिलनाडू इलेक्ट्रिसिटी बोर्ड के 80,000 कर्मचारियों का प्रतिनिधित्व कर रही अधिकांश यूनियनों द्वारा संयुक्त लॉन्च